JAWAHARMOHRA-RATNAPRADHAN (जवाहरमोहरा रतनप्रधान )

इससे दिल की घबराहट,हृदय की धड़कन,हृदय दुर्बलता,दिमागी कमजोरी आदि लक्षणों में लाभदायक ,आन्त्रिक ज्वर के साथ आयी दुर्बलता पर हितकर है। 

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

मणिक्यापिष्टी ,पन्ना पिष्टी,मुक्ता पिष्टी,प्रवाल पिष्टी,

संगेयशव पिष्टी,कहरवा पिष्टी,चाँद वर्क,स्वर्ण वर्क,दरयाई नारियल चूर्ण,

आमबरेशम कटरा हुआ,श्रृंग भस्म,जड़वार ,अम्बर।  

उपयोग

इससे दिल की घबराहट,हृदय की धड़कन,हृदय दुर्बलता,दिमागी कमजोरी आदि लक्षणों में लाभदायक ,आन्त्रिक ज्वर के साथ आयी दुर्बलता पर हितकर है। 

मात्रा १०० मिलीग्राम 
अनुपान शहद और खमीरे गावंजवा। 

News