CHATURMUKH RASA(चतुर्मुख रस )

राजयक्षमा के शमन ,प्रमेह ,अग्निमांध ,क्षय रोग ।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

पारद,शुद्ध गंधक ,लौह भस्म ,अभ्रक भस्म ,स्वर्ण भस्म। 

उपयोग

राजयक्षमा के शमन ,प्रमेह ,अग्निमांध ,क्षय रोग ।

मात्रा 50   मिली ग्राम से 100  मिलीग्राम  दिन में दो बार। 
अनुपान त्रिफला और शहद 

 

 

News