JALODARARI RASA (जलोदरारि रस)

शुद्ध पारद, शुद्ध गंधक, मैनशिल, हल्दी, शुद् जमालगोटा, त्रिफला, त्रिकूट, और चित्रकमूल |

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

शुद्ध पारद, शुद्ध गंधक, मैनशिल, हल्दी, शुद् जमालगोटा, त्रिफला, त्रिकूट, और चित्रकमूल |

भावना द्रव्य

दन्तीमूल क्वाथ, खूही क्षीर, भृंगराज स्वरस।

उपयोग

तीत्र शूल, सर्वांग शोथयुक्त जलोदर नाशक, यकृत क्रिया  नियमित होती है एवं आमवृद्धि नाशक है।

मात्रा

250 मि. ग्रा.  (1 - 1 गोली दिन में दो बार)

अनुपान

दशमूल क्वाथ या ऊंटनी के दूध से ।

News