KRIMIKUTHAR RASA (कृमिकुठार रस)

कर्पूर, इन्द्रजव, त्रायमाण, अजमोद, वायविडंग, शुद्ध सिंगरफ, शुद्ध वत्सनाभ, नागकेशर, पलाश बीज का चूर्ण ।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

कर्पूर, इन्द्रजव, त्रायमाण, अजमोद, वायविडंग, शुद्ध सिंगरफ, शुद्ध वत्सनाभ, नागकेशर, पलाश बीज का चूर्ण ।

भावना द्वव्य

भांगरा, भृंगराज रस, मूषाकर्णी, ब्राह्मी का रस ।

उपयोग

उदरकृमि, हृदयकृमि, कफजकृमि, पुरीषजकृमि, उदरशूल, शिरशूल, पाण्डु और वातरोग। बालकों की कृमिज कास पर उपयोगी ।

मात्रा   125 मि. ग्रा. से 375 मि. ग्रा.
अनुपान सत्यानाशी की जड़ का क्वाथ या शहद   

News