SHIRASHULADI VAJRA RASA (शिर :शूलादि वज् रस)

शुद्ध पारद, शुद्ध गन्धक, लौह भस्म, ताम्र भस्म, शुद्ध तत्सगुग्गुल, त्रिफला चूर्ण, निशोथ, मधुयष्ठि, पीपली, शुण्ठी, | उपयोगगोक्षरु, विडंग, दशमूल।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

शुद्ध पारद, शुद्ध गन्धक, लौह भस्म, ताम्र भस्म, शुद्ध गुग्गुल, त्रिफला चूर्ण, निशोथ, मधुयष्ठि, पीपली, शुण्ठी, गोक्षरु, विडंग, दशमूल।

भावना द्वव्य   दशमूल क्वाथ।
उपयोग

सभी प्रकार के शिरःशूल, वात प्रकोप, मस्तिष्क कीनिर्बलता, अपस्मार जन्य शिरःशूल आदि में हितकर है

मात्रा  125 मि.ग्रा. से 250 मि.ग्रा.(1-2 गोली ) दिन में 2 बार।
अनुपान दूध, शहद या पथ्यादि क्वाथ।

 

News