VEERYASHODAN VATI (वीर्यशोधन वटी)

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

चांदी के वर्क, वंग भस्म, प्रवाल पिष्टी, शुद्ध शिलाजीत,अमृता सत्व, कर्पूर।

उपयोग

प्रमेह, स्वप्रदोष, मूत्र सहधातु जाना, धातु की उष्णता, धातु का पतलापन आदि रोगों को दूर कर वीर्य को शुद्ध व गाढ़ा बनाती है।

मात्रा

1-2 गोली दिन में 2 बार ।

अनुपान

दूध।

News