BRAHMI VATI (ब्राह्मी वटी)

घटक द्वव्य ब्राह्मं, रससिन्दूर, अभ्रक भस्म, वंग भस्म, शुद्ध | शिलाजीत, मरिच, पीपली, वायविडंग सहायक द्रव्य ब्राह्मी का क्वाथ उपयोग ज्वर के बाद की निर्बलता, मुद्दती ज्वर, जीर्ण ज्वर, मस्तिष्क की कमजोरी, हृदय की निर्बलता, स्मरण शक्ति की कमी, धातुस्त्राव आदि में उपयोगी है ।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

ब्राह्मं, रससिन्दूर, अभ्रक भस्म, वंग भस्म, शुद्ध | शिलाजीत, मरिच, पीपली, वायविडंग
 

सहायक द्रव्य

ब्राह्मी का क्वाथ

उपयोग

ज्वर के बाद की निर्बलता, मुद्दती ज्वर, जीर्ण ज्वर,
मस्तिष्क की कमजोरी, हृदय की निर्बलता, स्मरण शक्ति
की कमी, धातुस्त्राव आदि में उपयोगी है । ज्वर को उतारने
में उपयोगी है।

मात्रा

1-1 गोली दिन में 2 बार ।

अनुपान

दूध

News