NAVAYASH LOUHA (नवायस लौह)

हरड़, विभीतकी, आमलकी चूर्ण, शुण्ठी, मरिच, पीपली,नागरमोथा, वायविडंग, चित्रकमूल समभाग। लौह भस्म इन सब के बराबर।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

हरड़, विभीतकी, आमलकी चूर्ण, शुण्ठी, मरिच, पीपली,नागरमोथा, वायविडंग, चित्रकमूल समभाग। लौह भस्म इन सब के बराबर।

उपयोग

कामला, पाण्डु, शोथ, हृदय रोग, उदर रोग, कृमी, कुष्ठ,भगन्दर, मंदाग्रि, प्रमेह, अर्श, अरूचि आदि को दूर करता है।शक्ति वर्द्धक, अग्निप्रदीपक व पाचक है।

मात्रा 125 मि. ग्रा. से 250 मि. ग्रा. दिन में 2 बार।
अनुपान  घी और शहद या मठ्ठा 

News