CHANDRAPRABHA VATI (चन्द्रप्रभा वटी)

कर्पूर, बच, नागरमोथा, चिरायता, गिलोय, देवरारू, हल्दी, अतीस, दारूहल्दी, पीपलामूल, चित्रक, धनिया, हरड़, बहेड़ा, आंवला, चव्य, वायविडंग, गजपीपल, सौंठ, कालीमिर्च, पीपल, स्वर्णमाक्षिक भस्म, सज्जीक्षार, सैंधा नमक, काला नमक, कांच नमक, काली निशोथ, दन्तीमूल, तेजपत्र, दाचचीनी, छोटी इलायची, वंशलोचन, लौह भस्म, मिश्री, शुद्ध शिलाजीत, शुद्ध गुग्गुल।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

कर्पूर, बच, नागरमोथा, चिरायता, गिलोय, देवरारू, हल्दी, अतीस, दारूहल्दी, पीपलामूल, चित्रक, धनिया, हरड़, बहेड़ा, आंवला, चव्य, वायविडंग, गजपीपल, सौंठ, कालीमिर्च, पीपल, स्वर्णमाक्षिक भस्म, सज्जीक्षार, सैंधा नमक, काला नमक, कांच नमक, काली निशोथ, दन्तीमूल, तेजपत्र, दाचचीनी, छोटी इलायची, वंशलोचन, लौह भस्म, मिश्री, शुद्ध शिलाजीत, शुद्ध गुग्गुल।

उपयोग

मूत्रकृच्छ, मूत्राघात, पथरी, प्रमेह, भगन्दर, अण्डवृद्धि, पाण्डु, कामला, बवासीर, कमर दर्द, नेत्र रोग, गर्भाशय के विकार, धातु सम्बन्धी विकार।

मात्रा   500 मि.ग्रा. से 1 ग्रा. (2-4 गोली )
अनुपान  गिलोय स्वरस और शहद ।

 

News