PEEDASHAMAK TAIL (पीड़ाशामक तैल)

  सिरसा, धतुरा, निर्गुण्डी, सिताब (सर्पदूष्टा), मैदा लकड़ी, सौंठ, अजवायन, बच, सैंधानमक कर्पूर, वत्सनाभ, कुचिला और तिल तैल। है

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

  सिरसा, धतुरा, निर्गुण्डी, सिताब (सर्पदूष्टा), मैदा लकड़ी,
सौंठ, अजवायन, बच, सैंधानमक कर्पूर, वत्सनाभ,
कुचिला और तिल तैल। है

उपयोग

वातरोग में हड्डियों में होने वाली वेदना, चोट लगकर रक्त जम जाना, रक्ताभिसरण क्रिया योग्य न होने पर वातप्रकोप
से वेदना होने पर मालिश से लाभ होता है।

मात्रा

ब्राह्य प्रयोजनार्थ । (उपयोग के बाद साबुन से हाथ धोंये)

News