KASISADI TAIL (कासीसादि तैल)

कासीस, सांगली, कूठ, सौंठ, पीपल, सेंधा नमक,मैनषिल, कनेर की छाल, वायविडंग, चित्रकमूल, अडूसेके पत्ते, दन्‍्तीमूल, कड़वी तोरई के बीज, सत्यानाशी कीजड़, हरताल, तिल तैल, थूहर दुग्ध, आक दुग्ध और गौमूत्र।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

कासीस, सांगली, कूठ, सौंठ, पीपल, सेंधा नमक,मैनषिल, कनेर की छाल, वायविडंग, चित्रकमूल, अडूसे के पत्ते, दन्‍्तीमूल, कड़वी तोरई के बीज, सत्यानाशी कीजड़, हरताल, तिल तैल, थूहर दुग्ध, आक दुग्ध और गौमूत्र।

उपयोग

अर्ष के मस्से तथा चर्म कीलों पर लगाने से मुरझा जाते हैं ।

मात्रा 3-4 मास तक लगाते रहना चाहिये।

 

News