KANTHSUDHARAK VATI (कण्ठसुधारक वटी)

मधुयपष्टि सत्व, पिपरमेन्ट का फूला, कपूर, लवंग, एला, जावित्री

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

मधुयष्टि सत्व, पिपरमेन्ट का फूला, कपूर, लवंग, एला, जावित्री

उपयोग

यह कण्ठ बैठना, मंदाग्रि, अरूचि, अर्जीर्ण, कफ वृद्धि आदि रोगों में हितकारक है।

मात्रा

१25 मि.ग्रा. दिन में 8-10 चूसना।

 

News