KARANJADI VATI (करंजादि वटी)

भुनी हुई करंज गिरी, इन्द्रायण मूल, वनप्सा, अतीस, शुभ्रा 'फूला, पीपली, बृहत हरीतकी, शहद ।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

भुनी हुई करंज गिरी, इन्द्रायण मूल, वनप्सा, अतीस, शुभ्रा 'फूला, पीपली, बृहत हरीतकी, शहद ।

उपयोग

विषम ज्वर, शीत ज्वर, अपचन जनित ज्वर, उदर कृमी प्रतिश्याय, मलावरोध आदि में लाभदायक है।

मात्रा

250 मि.ग्रा. (2-2 गोली) दिन में 2 बार।

अनुपान

जल।

 

News