AMARSUNDRI VATI (अमरसुन्दरी वटी)

घटक द्वव्य शुद्ध पारद, शुद्ध गंधक, लौह भस्म, शुद्ध वात्स्नाभ, रेणुका बीज, शुण्ठी, कृष्णा मिर्च, पीपली, हर्तिकी, विभीतकी, आमलकी, पीपला मूल, चित्रकमूल, दालचीनी, तेजपत्र, इलाइची, नागकेशर, वायविंडग, अकरकरा, नागरमोथा, गुड़ ।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

शुद्ध पारद, शुद्ध गंधक, लौह भस्म, शुद्ध वात्स्नाभ, रेणुका बीज, शुण्ठी, कृष्णा मिर्च, पीपली, हर्तिकी, विभीतकी, आमलकी, पीपला मूल, चित्रकमूल, दालचीनी, तेजपत्र, इलाइची, नागकेशर, वायविंडग, अकरकरा, नागरमोथा, गुड़ ।

उपयोग

जीर्ण व नवीन प्रतिश्याय, श्वास, कास, अपस्मार, तथा वाटिक शीरो रोग में विशेष हितकार है।

मात्रा

125 मि.ग्रा. से 375 मि.ग्रा. दिन में 2 बार।

अनुपान

अदरक का रास और शहद। 

News