TRIFALA CHURNA (त्रिफला चूर्ण)

इसके सेवन से अग्रि प्रदीतत होकर मलशुद्धि होती है। घृतव शहद के साथ सेवन से सेन्द्रिय विष प्रकोप व पित्तविकार जनित नेत्र रोग दूर होते हैं । यह कब्ज, शोथ, प्रमेह,रक्त विकार, शीतपित्त में उपयोगी है।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

बड़ी नयी रसदार हरड़, उत्तम बहेड़ा, नया आंवला के समभाग छिलकें।

उपयोग

इसके सेवन से अग्रि प्रदीतत होकर मलशुद्धि होती है। घृतव शहद के साथ सेवन से सेन्द्रिय विष प्रकोप व पित्तविकार जनित नेत्र रोग दूर होते हैं । यह कब्ज, शोथ, प्रमेह,रक्त विकार, शीतपित्त में उपयोगी है।

मात्रा

चिकित्सक परामर्श अनुसार विविध अनुपान द्र्व्यों सेप्रयोजनीय |

अनुपान गरम जल।

 

News