SHUKTI BHASMA (शुक्ति भस्म )

शुद्ध मोती की सीप, घृतकुमारी की मज्जा

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य शुद्ध मोती की सीप, घृतकुमारी की मज्जा
सहायक द्वव्य

नीबू का स्वरस

उपयोग

अग्नि प्रदीपक, शीतल, मस्तिष्क पौष्टिक, क्षय, कास जीर्णज्वर, नेत्र दाह, उदरवात, पित्तज गुल्म, श्वास अरूचि, परिणामशूल, पित्तातिसार, अम्लपित्त, दाह रक्तप्रदर व निर्बलता को दूर करती है।

मात्रा 125 मि.ग्रा. से 500 मि.ग्रा. दिन में 2 बार।
अनुपान मक्खन- मिश्री या शहद

 

 

News