ABHRAK BHASMA -50 PUTI (अभ्रक भस्म(50पुटी ) )

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य शुद्ध धान्याभ्रक
भावना द्वव्य  नागरमोथा, पुनर्नवा, कसोंदीपत्र, नागरबेल पान, गौ मूत्र , जामुन छाल, मौलसरी छाल, घृतकुमारी स्वरस  सफेद. मूसली, गौखरू, केले के खम्बे का रस निश्चन्द्रीकरण हेतु कल्मीशोरा व गुड़।
उपयोग कास, श्वास, हृदय रोग, वातवाहिनियों की निर्बलता उदःक्षत, क्षय, धातुक्षीणता में यह लाभप्रद रसायन है।
मात्रा 125 मि.ग्रा. से 250 मि. ग्रा. दिन में 2 बार।

News