VRAHAD BRAHMI VATI-GOLD (वृहद ब्राह्मी वटी -स्वर्ण )

सन्निपात ज्वर,आक्षेपक,संतत ज्वर,वातरोग,ह्रदय रोग दुर्बतलता ,आदि में लाभदायक है। 

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

जायफल ,लौंग ,जावित्री,स्याहजीरा,छोटी पीपल,दालचीनी,अनिसून ,असगंध,अकरकरा,धनिया,वंशलोचन,छोटी इलायची बीज,

शंखाहुली,श्वेत चन्दन,सौफ,तेजपात्र ,नागकेशर,रूमीमस्तंगी,पीपलामूल,चित्रकमूल छाल ,कुलिंजल ,ब्राह्मी ,निशोध ,अगर,अम्बर ,केशर,अभ्रक ,भस्म,सांगयेसव पिष्टी,

अकीक पिष्टी,माणिक्य पिष्टी,प्रवाल  पिष्टी,कहरवा पिष्टी,स्वर्ण भस्म ,मोती पिष्टी , चंद्रोदय। 

भावना द्रव्य  ब्राह्मी क्वाथ। 
उपयोग

सन्निपात ज्वर,आक्षेपक,संतत ज्वर,वातरोग,ह्रदय रोग दुर्बतलता ,आदि में लाभदायक है। 

मात्रा 100  मि. ग्रा. 250  मि. ग्रा. 
अनुपान दुध

News