NAVRATNA KALPAMRIT RASA (नवरत्न कल्पामृत रस )

माणिक्य पिष्टी, नीलम पिष्टी, पन्ना पिष्टी, पुखराज पिष्टी, मुक्ता पिष्टी, रौप्य भस्म, प्रवाल पिष्टी, स्वर्ण भस्म, लौह भस्म, जसद भस्म, अभ्रम भस्म, (50 पुटी ), शुद्ध गुग्गुल,शुद्ध शिलाजीत, गिलोय धन।

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

माणिक्य पिष्टी, नीलम पिष्टी, पन्ना पिष्टी, पुखराज पिष्टी, मुक्ता पिष्टी, रौप्य भस्म, प्रवाल पिष्टी, स्वर्ण भस्म, लौह भस्म, जसद भस्म, अभ्रम भस्म, (50 पुटी ), शुद्ध गुग्गुल,शुद्ध शिलाजीत, गिलोय धन।

 भावना द्वव्य 

 

उपयोग

यह औषध उत्तम रसायन है । एक वर्ष तक कल्प स्वरूप भी दी जाती है। रस, रक्त सभी धातुओं को पुष्ट व सबलबनाती है। वात, पित्त शामक, विषक्न, रक्त प्रसादन,मस्तिष्क पौष्टिक, हृद्य गुण दर्शाती है।

मात्रा १00 मि. ग्रा. से 400 मि. ग्रा. दिन में 2 बार।
अनुपान दूध।

News