AGNIKUMAR RASA (अग्निकुमार रस )

शुद्ध गन्धक, सुहागे का फूला, शुद्ध वत्सनाभ, शंख भस्म,कपर्दिका भस्म, कृष्ण मरिच |

Diamond

Qty ::



घटक द्वव्य

शुद्ध गन्धक, सुहागे का फूला, शुद्ध वत्सनाभ, शंख भस्म,कपर्दिका भस्म, कृष्ण मरिच |

भावना द्रव्य

ग॒म्भीरी निम्बू स्वरस 

उपयोग

अग्रिमांच, अजीर्ण, आध्मान, प्रतिश्याय, उदरशूल में हितकर।

मात्रा

125 मि.ग्रा. से 500 मि. ग्रा. दिन में 2 बार ।

अनुपान

जल

News