Purpose


कृष्ण गोपाल आयुर्वेद भवन धर्मार्थ औषधालय

-: उद्देश्य:-


1. पीड़ित मानवता की आयुर्वेदिक पद्धति द्वारा सेवा करना |

2. सभी प्रकार की औषधियों, विशेष रूप से आयुर्वेदिक औषधियों का निर्माण करना एवं उन्हें निर्धन व निःसहाय को निःशुल्क वितरित करना ।

3. जड़ी-बूटियां, रासायनिक द्रव्य, औषधियाँ एवं अन्य उत्पाद क्रय कर सिद्धौषध एवं अर्धसिद्धोपध एवं क्रय किये गये द्रव्यों का विक्रय करना, विक्रय केन्द्र खोलना, उनकी व्यवस्था करना और उनसे प्राप्त अतिरिक्त आय का न्यास के उद्देश्यों की पूर्ति हेतु उपयोग करना |

4. आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रणाली की उन्नति एवं प्रचार के लिए आयुर्वेद शास्त्र पर रचनायें तैयार करवा उन्हें मुद्रित कर विक्रय करना ।

5. आयुर्वेद चिकित्सा प्रणाली के प्रचार एवं जनता के लाभार्थ विभिन्न भाषाओं में विशेषकर ग्रामीण जनता की आवश्यकता एवं उनकी पूर्ति का ध्यान रखते हुए साहित्य प्रकाशन करना |

6- कालेड़ा-कृष्णगोपाल या अन्य तत्सम स्थान की औचित्यता देखकर आयुर्वेद पाठशाला, महाविद्यालय या विश्वविद्यालय स्थापित करना जिससे आयुर्वेद विज्ञान की शिक्षा एवं अनुसंधान कार्य किये जा सके | 

7. चिकित्सा सहायता देने हेतु स्थाई या चलित अस्पताल/औषध वितरण क॒क्ष/निदान गृह स्थापित करना  एवंविद्यार्थियों को उनके माध्यम से प्रायोगिक प्रशिक्षण प्रदान करना |

8. आयुर्वेद में शोध कार्य के प्रोत्साहन हेतु वनस्पति उद्यानों की स्थापना कर उनका संधारण करना और  इस हेतु शोध कर्ताओं को विभिन्न स्थानों पर भेजना ।

9. आयुर्वेद प्रणाली व अन्य चिकित्सा प्रणाली के समतुल्य अध्ययन कराना व आयुर्वेदिक प्रणाली द्वारा  रोगों की रोकथाम हेतु स्वास्थ्य सम्बन्धी लेख,ग्रंथ एवं पत्रिकाएं प्रकाशित करना |

10. उपर्युक्त उद्देश्यों की पूर्ति एवं प्रसार हेतु अन्य व्यक्तियों, संस्थाओं अथवा राज्य कोष से उपहार,  सहायता, दान या अन्य प्रकार की सहायता प्राप्त करना |

11. वह सब कार्य करना जिससे न्यास द्वारा दर्शायें गये उपर्युक्त उद्देश्यों की यूर्ति की जा सके।


News